Poems on Friendship in Hindi | दोस्ती पर 13 कवितायें

हमारी सलामती के लिए दोस्त और परिवार महत्वपूर्ण होते हैं। हालाँकि, परिवार के सदस्यों के बारे में काफी कविताएँ हैं, इसलिए हमने कठिन कार्य पर ध्यान दिया :- Poems on Friendship in Hindi (दोस्ती के बारे में कविताएँ)।

हमने 13 दोस्ती की कविताओं की एक सूची तैयार की है, उन लोगों के सम्मान में जो अकेलेपन को दूर करते हैं। यहाँ दी गयी कविताएँ विभिन्न युगों और दृष्टिकोणों से आती हैं और इनमें खोए हुए दोस्तों, दुनिया के दोस्तों और बुरे दोस्तों के विषय भी शामिल हैं।

यह उन कविताओं की एक सूची है जो हमें पसंद आईं, जो दोस्ती के विभिन्न पहलुओं को सामने लाती हैं।

Friendship Poems in Hindi

Poem-1 दोस्ती क्या है

क्या खबर तुमको दोस्ती क्या है
ये रोशनी भी है और अँधेरा भी है
दोस्ती एक हसीन ख़्वाब भी है
पास से देखो तो शराब भी है

दुःख मिलने पर ये अजब भी है
और यह प्यार का जवाब भी है
दोस्ती यु तो माया जाल है
इक हकीकत भी हैं ख़याल भी है

कभी जमीं कभी फ़लक भी है
दोस्ती झूठ भी है सच भी है
दिल में रह जाए तो कसक भी है
कभी ये हर भी हैं जीत भी है

दोस्ती साज भी हैं संगीत भी है
शेर भी नमाज़ भी गीत भी है
वफ़ा क्या है वफ़ा भी दोस्ती है
दिल से निकली दुआ भी दोस्ती है

बस इतना समझ ले तू
एक अनमोल हीरा है दोस्ती


Poem-2 दोस्ती क्या है

सुख-दुख के अफसाने का
ये राज है सदा मुस्कुराने का
ये पल दो पल की रिश्तेदारी नहीं
ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का
जिन्दगी में आकर कभी ना वापस जाने का
ना जानें क्यों एक अजीब सी डोर में बन्ध जाने का
इसमें होती नहीं हैं शर्तें
ये तो नाम है खुद एक शर्त में बन्ध जाने का

ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का
दोस्ती दर्द नहीं रोने रुलाने का
ये तो अरमान है एक खुशी के आशियाने का
इसे काँटा ना समझना कोई
ये तो फूल है जिन्दगी की राहों को महकाने का
ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का
दोस्ती नाम है दोस्तों में खुशियाँ बिखेर जाने का

आँखों के आँसूओं को नूर में बदल जाने का
ये तो अपनी ही तकदीर में लिखी होती है
धीरे-धीरे खुद अफसाना बन जाती है जमाने का

ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का
दोस्ती नाम है कुछ खोकर भी सब कुछ पाने का
खुद रोकर भी अपने दोस्त को हँसाने का
इसमें प्यार भी है और तकरार भी

दोस्ती तो नाम है उस तकरार में भी अपने यार को मनाने का
ये तो फ़र्ज है उम्र भर निभाने का


Poems on Friendship in Hindi

दोस्ती जीवन का सबसे बड़ा खजाना होता है। जो दोस्त वफादार होते हैं, वे हमेशा बुरे वक़्त में आपको हँसाने के लिए होते हैं, वे आपको गलतियों से बचने में मदद करने से डरते नहीं हैं और वे आपकी सबसे अच्छी रुचि की तलाश करने में मदद करते हैं।

इस तरह के दोस्त को ढूंढना मुश्किल हो सकता है, लेकिन यह दोस्ती जीवन भर चलेगी। अन्य दोस्त शायद उतना प्यार करने वाले न हों। विश्वासघात से खराब हुई दोस्ती के कारण होने वाले दर्द को दूर करना आसान नहीं होता है।

असल में, कई कविताओं में उनकी प्रेरणा एक प्यार भरी दोस्ती या एक असफल दोस्ती के कारण होने वाले दर्द से मिलती है। Dosti par Kavita

Poem-3 दोस्त वो है

दोस्त वो है जो थाम के रखता है हाथ
परवाह नहीं उसको कौन है तुम्हारे साथ

उसकी आखों में चमक दिखती है
जब होता है तुम्हारे साथ

गुजर जाता है वक़्त मिनटों में
जब करते हैं उससे बात

दोस्त वो हैं जो सामने आ जाये गर
खुद बयाँ हो जाते हैं दिल के हालत

कुछ सोचना नहीं पड़ता
जब होती है उससे बात

दोस्त वो है जो बिन कहे समझ लेता है हर बात
बस हम छिपा नहीं सकते उससे कोई भी राज

कर देता है हैरान तब और भी
जब मरहलों में बन जाता है ढाल
अपने सारे दर्द ग़म भुला कर
साथ हँसता है सारी रात

उसे कुछ भी नहीं चाहिए तुमसे बस
कुछ पल तुम्हारे साथ का है वह मोहताज़

दोस्त वो है जिससे दोस्ती निभानी नहीं पड़ती
जिसे कोई भी बात समझानी नहीं पड़ती

रूठ भी जाए तो भी नहीं करता नज़रन्दाज़
इसलिए ये रिश्ता होता है हर रिश्ते से ख़ास

कभी वो माँ की तरह समझाता है
तो कभी पिता की तरह डांटता है

कभी- कभी बहन बन कर सताता है
तो कभी भाई की तरह रुलाता है

कभी एक आफ़ताब बन होंसला बढ़ाता है
हमें ग़म और खुशियों से परे ले जाता है

जिसके पास है ऐसा दोस्त
वही मुकम्मल है इस जहाँ में
वही है हयात का सरताज


Poem-4 सच्चा साथी

कहीं देखा हैं तुमने उसे
जो मुझे सताया करता था
जब भी उदास होती थी मैं
मुझे हँसाया करता था

एक प्यार भरा रिश्ता था वो मेरा
जो मुझे अब भी याद आता हैं
खो गया वक्त के भँवर में कहीं
जो हर पल मेरे साथ होता था

आज एक अजनबी की तरह हाथ मिलाता हैं
जो छोटी से छोटी बात मुझे बताया करता था
कहीं मिले वो किसी मोड़ पर
तो उसे मेरा संदेशा देना
कोई है जो आज भी उसका इंतजार कर रहा है
जिसे वो मेरा सच्चा साथी बोला करता था.


Best Poems on Friendship in Hindi

दोस्त होना मतलब दूसरों के साथ हमारे जीवन को साझा करना। हमारे जीवन के कुछ पहलू हैं जिनकी आवश्यकता है कि हम अपनी भावनाओं को व्यक्त करने में मदद करने के लिए एक साथ बहुत समय बिताएं। कई बार केवल कुछ शब्दों को share करना पर्याप्त से अधिक होता है।

जरुरी नहीं है कि हमेशा एक लंबी बातचीत ही गहरी भावनाओं को बताती है। कभी-कभी, अभिव्यक्ति के लंबे लेख निरर्थक लग सकते हैं और इसमें प्रचुरता नहीं होती है। संक्षिप्त शब्दों में कागज़ पर शब्दों का सही combination डाल देने मात्र से काम हो सकता है। Dosti par kavita.

poems on friendship in hindi
Poems on friendship in Hindi

Poem-5 दोस्ती प्यार का दरिया

दोस्ती
प्यार का मीठा दरिया है
पुकारता है हमें

आओ, मुझमें नहाओ
डूबकी लगाओ
प्यार का सौंधा पानी
हाथों में भर कर ले जाओ

आओ
जी भर कर गोता लगाओ
मौज-मस्ती की शंख-सीपियाँ
जेबों में भर कर ले जाओ

दोस्ती का दरिया
गहरा है, फैला है
इसमें नहीं तैरती
धोखे की छोटी नौका
कोशिश की तो
बचने का नहीं मिलेगा मौका


Poem-6 दोस्ती

प्यार को मत समझो पूरा
उसका पहला अक्षर ही है अधूरा
अगर करना है सच्चा प्यार
तो बन पहले एक दूसरे का यार।

दोस्ती हर बन्धन से मजबूत होती है
दोस्ती मन का सम्बन्ध होती है
जिसमें स्वेच्छा से त्याग की भावना होती है।
दुनिया में हर रिश्ते-नाते
समय के साथ बदलते हैं
मगर सच्ची दोस्ती उम्र भर चलती है।

सच्ची दोस्ती में हर एक रिश्ता मिल जाता है
मगर हर रिश्ते में दोस्ती नहीं मिलती।
दोस्ती दो के बीच समता और एकता
जो सुख दुख में भी निभाया जाता।

सच्ची दोस्ती में न दूरी
न नजदीकी है जरूरी
हर हाल में पक्की बनी रहती है
जो करते हैं
वे समझें मेरी बात
न मोहब्बत, न इजहार
पहले दोस्ती करो
फिर प्यार

सुशीला सुक्खु


Poems on Friendship in Hindi

ये दोस्ती पर कविताएँ हमें याद दिलाती हैं कि दोस्त special हैं, जिन्हें हम स्नेह और प्यार के साथ सोचते हैं। निकटता और एक समझ है जो हमारे पास है।

सच्चे दोस्त वही होते हैं जो अच्छे समय और जीवन के खराब समय में हमारे साथ होते हैं। हम उन पर depend रह सकते हैं और वे हमेशा हम पर भरोसा कर सकते हैं। हम कभी-कभी उन्हें एक दोस्त, एक बहन / भाई के रूप में देखते हैं लेकिन हम हमेशा जानते हैं कि वे हमारे लिए हमेशा तैयार हैं।

हम आशा करते हैं कि आप इन कविताओं (Poems on Friendship in Hindi) में अपने दोस्तों की परछाई पाएंगे। दोस्ती के दिन या साल के किसी भी समय इन Friendship Poems in Hindi को दोस्तों के साथ share करें, उन्हें बताएं कि आप उनकी तारीफें करते हैं!

Poem-7 दोस्ती का रिश्ता

कहते हैं कि दोस्ती का रिश्ता
बड़ा ही खूबसूरत होता है

अगर दोस्ती ही बेवफा हो जाये
तो यही रिश्ता सबसे बदसूरत होता है

दो दोस्त अगर बिछड़ जाये
तो ज़िन्दगी वीरान होती है

दोस्ती दो दिलों को जोड़ती है
वो बड़े से बड़े दुःख का असर तोड़ती है

दोस्तों हमेशा बांध कर रखना दोस्ती प्रेम की डोर से
क्योंकि दोस्ती के रिश्ते का कोई मोल नहीं होता है

अकेले में दोस्त ही काम आता है
ख़ुशी में भी दोस्ती के साथ हाथों में जाम आता है

दोस्त को कभी न खोना तुम
हमेशा दोस्त को दिल में बसाना तुम


Poem-8 दोस्ती

एक दिन जिंदगी ऐसे मुकाम पर पहुँच जाएँगी
दोस्ती तो सिर्फ़ यादों में ही रह जाएँगी

हर बात दोस्तों की याद दिलायेंगी
और हँसते हँसते फिर आँख नम हो जाएँगी

ऑफिस के रूम में क्लासरूम नज़र आएँगी
पैसे तो बहोत होगा
लेकिन खर्चा करने के लम्हें कम हो जायेंगें

जी लेंगे खुल के इस पल को मेरे दोस्त
क्यूँ के जिंदगी इस पल को फिर से नहीँ दोहराएँगी


Special Friendship Poems in Hindi

दोस्त– हर किसी के जीवन की सबसे बड़ी संपत्ति … वह रिश्ता जो हम खुद चुनते हैं। हम अपने दोस्तों से पूरा दिन किसी रेस्तरां, कॉफी हाउस, सिनेमा हॉल, गार्डन या ऐसी जगह पर मिलते हैं, जहां हम घूम सकते हैं और उनके साथ मजे कर सकते हैं।

इसलिए यहाँ हम अपने पाठकों के लिए कुछ Friendship Poems in Hindi पोस्ट कर रहे हैं। इन्हें अपने निकट और प्रिय लोगों को भेजें और उनके दिन को special बनाएं।

Poem-9 हम हमेशा दोस्त रहेंगे

हर सुख दुःख में, साथ साथ जीया करते थे
हार हो या जीत एक दुसरे का हमेशा साथ दिया करते थे

कभी हम तुमसे कभी तुम हमसे रूठ जाया करते थे
फिर हम तुम्हे और कभी तुम हमें मना लिया करते थे

एक दूसरे की खुद से ज्यादा परवाह किया करते थे
ये बात बस कल की ही लगती है
हम तुम अपनी दोस्ती पर कितना इतराया करते थे


Poem-10 जाना पहचाना साथी

वो खुशियों की डगर, वो राहों में हमसफ़र,
वो साथी था जाना पहचाना,
दिल हैं उसकी यादों का दीवाना
वो साथ था जाना पहचाना

गम तो कई उसने भी देखे,
पर राहों में चले खुशियों को लेके
दिल चाहता हैं हर दम हम साथ चलें,
पर इस राह में कई काले बादल हैं घने
वो साथ था जाना पहचाना

मेरे आसुओं को था जिसने थामा,
मुझसे ज्यादा मुझको पहचाना
चारों तरफ था घनघोर अँधियारा,
बनकर आया था जीवन में उजियारा
वो साथ था जाना पहचाना

गिन-गिन कर तारे भी गिन जाऊ,
पर उसकी यादों को भुला ना पाऊ
कहता था अक्सर हर दिन हैं मस्ताना,
हर राह में खुशियों का तराना
वो साथ था जाना पहचाना

कहता हैं मुझे भूल जाना,
अपनी यादों में ना बसाना
देना चाहूँ हर ख़ुशी उसे,
इसीलिए, मिटाना चाहूँ दिल से
वो साथ था जाना पहचाना

By: कर्णिका पाठक


Sad Poems on Friendship in Hindi

Poem-11 यार

किसी न किसी पे किसी को ऐतबार हो जाता है ,
अजनबी कोई शख्स यार हो जाता है ,
खूबियों से नहीं होती मोहब्बत सदा ,
खामियों से भी अक्सर प्यार हो जाता है .

किन लफ़्ज़ों में इतनी कड़वी कसैली बात लिखूं ,
मैं सच लिखूं के अपने हालत लिखूं ,
कैसे लिखूं मैं चांदनी रातें ,
जब गरम हो रेत तो कैसे मैं बरसात लिखूं .

सभी नग्मे साज़ में गाये नहीं जाते ,
सभी लोग महफ़िल में बुलाये नहीं जाते ,
कुछ पास रह कर भी याद नहीं आते ,
कुछ दूर रह कर भी भूलाये नहीं जाते!


Poem-12 साथ निभाने वाला

दोस्त बन कर भी नहीं साथ निभाने वाला
वही अंदाज़ है ज़ालिम का ज़माने वाला

अब इसे लोग समझते हैं गिरफ्तार मेरा
सख्त नदीम है मुझे दाम में लाने वाला

क्या कहें कितने मरासिम थे हमारे इस से
वो जो इक शख्स है मुंह फेर के जाने वाला

मुन्तज़िर किस का हूँ टूटी हुई दहलीज़ पे मैं
कौन आएगा यहाँ कौन है आने वाला

मैंने देखा है बहारों में चमन को जलते
है कोई ख्वाब की ताबीर बताने वाला


Dosti Par Kavita – दोस्ती पर कविता

Poem-13 बहुत याद आया

आज रूठा हुवा इक दोस्त बहुत याद आया
अच्छा गुज़रा हुवा कुछ वक़्त बहुत याद आया.

मेरी आँखों के हर इक अश्क पे रोने वाला
आज जब आँख यह रोई तू बहुत याद आया .

जो मेरे दर्द को सीने में छुपा लेता था
आज जब दर्द हुवा मुझ को बहुत याद आया .

जो मेरी आँख में काजल की तारा रहता था
आज काजल जो लगाया तू बहुत याद आया .

जो मेरे दिल के था क़रीब फ़क़त उस को ही
आज जब दिल ने बुलाया तू बहुत याद आया


दोस्तों, उम्मीद है आपको ये Poems on Friendship in Hindi अच्छी लगी होंगी. पढने के लिए धन्यवाद.

यह भी पढ़ें –