Best Shayari On Independence Day

Best Shayari On Independence Day

स्वतंत्रता दिवस का नाम आते ही हमारे हृदय में देश के प्रति एक अलग प्रेम जाग जाता है, तिरंगा का दृश्य नज़र आने लगता है, भारत माँ का नाम याद आने लगता है और मन में सेना के जवानों का ख्याल आने लगता है। ये कुछ ऐसे शब्द हैं जिनका नाता स्वतंत्रता दिवस के साथ बहुत गहरा है। ये तो हम सब जानते हैं की 15 अगस्त 1947 इतिहास के पन्नों का वो सुनहरा दिन है, जब भारत को अंग्रेज़ों से आज़ादी मिली थी और हमारा देश गुलाम भारत से आज़ाद भारत बना था। 

इस स्वतंत्रता दिवस के मौके पर हम आपके लिए लेकर आए हैं shayari on independence day in hindi, swatantrata diwas shayari, happy independence day shayari, 15 august shayari, swatantrata diwas par shayari ताकि आप इन्हें अपने सोशल मीडिया स्टेटस पर लगा सकें या अपनों को भेज सकें.

तो आइए स्वतंत्रता दिवस के इस मौके पर आज़ादी एवं देश के वीरों पर कुछ सुंदर shayari on independence day in hindi पढ़ते हैं:

Independence Day Shayari in Hindi

vatan par shayari aur ek indian fauji

मैं मर जाऊँ तो मेरी एक अलग पहचान लिख देना
लहू से मेरी पेशानी पे हिंदुस्तान लिख देना

aazadi par shayari aur ek saalte karta hua indian sipaahi

हम अपनी जान के दुश्मन को अपनी जान कहते हैं
मोहब्बत की इसी मिट्टी को हिंदुस्तान कहते हैं

tirange ke saath 3 indian kids aur swatantrata diwas par kuchh panktiyan

इस देश में हर व्यक्ति समान था, समान रहेगा
इस देश पर हमें अभिमान था, हमेशा अभिमान रहेगा
भारत वीर, जवानों, अल्बेलों और मस्तानों का देश है
ये पहले भी महान था सदा महान रहेगा।

swatantrata diwas par shayari aur subah ka drishya

लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है
उछल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी

aazadi par shayari ke saath kuchh bharteey sainik

भारत के ऐ सपूतो हिम्मत दिखाए जाओ
दुनिया के दिल पे अपना सिक्का बिठाए जाओ

swatantrata diwas shayari with indian soldiers and a helicopter

वतन के जाँ-निसार हैं वतन के काम आएँगे
हम इस ज़मीं को एक रोज़ आसमाँ बनाएँगे

ek indian soldier ki photo par swatantrata diwas par shayari  likhi hui

जवानो नज़्र दे दो अपने ख़ून-ए-दिल का हर क़तरा
लिखा जाएगा हिन्दोस्तान को फ़रमान-ए-आज़ादी

shayari on independence day in hindi with some statues of Indian soldiers

इसी जगह इसी दिन तो हुआ था ये एलान
अँधेरे हार गए ज़िंदाबाद हिन्दोस्तान

happy independence day shayari and an indian old man with moustache wearing pagdi

क्या पूछते हो नाम-ओ-निशान-ए-मुसाफ़िराँ
हिन्दोस्ताँ में आए हैं हिन्दोस्तान के थे

15 august shayari and a man covering his back with an indian flag

न पूछो हम-सफ़रो मुझ से माजरा-ए-वतन
वतन है मुझ पे फ़िदा और मैं फ़िदा-ए-वतन

है मोहब्बत इस वतन से अपनी मिट्टी से हमें
इस लिए अपना करेंगे जान-ओ-तन क़ुर्बान हम

खुशी के आँसू रोई थी सबकी आँखें इस दिन
सुकून की नींद चैन से सोई थी सबकी आँखें इस दिन।

अखंड भारत को खण्डों में बाँटने वालों
तुम्हारा ये सपना अधूरा रह जायेगा।
ये देश अखंडता का प्रतीक है
कभी ये खण्डों में नहीं बट पायेगा।

जो हिंदुस्तान का बुरा चाहते हैं
वो एक दिन खाक हो जायेंगे
जो तिरंगे को जलाने की चाहत रखते हैं
वो खुद जल कर राख हो जायेंगे।

स्वतंत्रता दिवस पर कुछ बेहतरीन पंक्तियाँ

वीर पुरुषों ने अपनी जान गँवाई थी
तब जाकर देश में क्रांति आई थी।
नम थी लाखों आँखें
जब उन आँखों के इर्द गिर्द पड़ी थी हज़ारों लाशें।
एक ओर आज़ादी की खुशी थी
तो दूजी ओर बह रही खून की नदी थी।
खुश थे हम, की सदियों बाद आज़ाद हो गये
पर दुखी था मन, कि हमें आज़ाद कराने वाले तो कफ़न पहन कर सो गये।

अब तिरंगा लहरा रहा है आसमानों पर
भारत का नाम आ रहा है सबकी ज़ुबानों पर,
तरक्की की ओर ये पहली राह है
यही हर हिंदुस्तानी की चाह है।

पाया है जन्म हिंदुस्तान की इस धरती पर
मौत भी यहीं चाहता हूँ।
अगले जनम में मिले अगर जीवन
तो फिर से ज़िंदगी यहीं चाहता हूँ।

फिर से आज़ादी का वो मंज़र याद करो
काँपती उन रूहों का डर याद करो।
शहीद हो गये जो, अमर वीर थे वो
उन्हें इस स्वतंत्रता दिवस पर याद करो।

न धर्म पूछो न जाति
हम तो बस हिंदुस्तानी हैं
प्राणों की आहुति दे दें जो
वो अमर कहानी हैं।

जो वतन को अपनी महबूब बना लेता है
उससे हर देशवासी मोहब्बत करता है।

Swatantrata Diwas Shayari

15 अगस्त का दिन हर एक भारतीय के लिए बहुत खास हैं और ये हमारे राष्ट्रीय पर्वों में से एक है। इस दिन को हर कोई अपने – अपने तरीके से मनाता है और राष्ट्रीय ध्वज को फहराता है। इस दिन स्कूलों में छात्र छ्त्राओं द्वारा नृत्य, संगीत प्रस्तुत कर उन वीर सपूतों को याद किया जाता है जो देश की आज़ादी के लिए खुद बलिदान हो गए। छात्र छात्राओं को शिक्षकों द्वारा आज़ादी की कहानी सुनाई जाती है और उन्हें 1947 का इतिहास, कैसे देश में क्रांति आई और देश के महान पुरुषों एवं अन्य नागरिकों पर क्या – क्या ज़ुल्म हुए ये बताया जाता है। ताकि उन्हें अपनी आज़ादी के महत्व का अंदाज़ा हो और वो भारत देश के इतिहास से वाक़िफ़ हों। 

इसी मौके के लिए आज हम इस आर्टिकल में कुछ shayari on independence day in hindi, swatantrata diwas par shayari, 15 august shayari, swatantrata diwas shayari, happy independence day shayari लेकर आए हैं.

स्वतंत्रता दिवस पर कुछ बेहतरीन पंक्तियाँ और शायरी

हम हिंदुस्तानी हैं
गैरों को भी अपना बनाना जानते हैं
पर अगर कोई मुल्क से गद्दारी करे
तो उसे सबक सिखा कर ही मानते हैं।

रंगों में नाप तोल कर इस मुल्क को मत बांटो
तिरंगे में रंग केसरिया भी है, और हरा भी
रंगों में नाप तोल कर इस मुल्क को मत बांटो।

अपनी आज़ादी की कीमत का अंदाज़ा शायद तुम्हें नहीं होगा
उनसे मिलो जिन्होंने बटवारे का वो दर्दनाक मंज़र देखा है।
तब मालूम होगा, आज़ादी का असल मतलब।

जो धर्म जाति से बहुत परे था, वो था हिंदुस्तान
अब तो इसकी सूरत बदलने लगी है।

उपकार से बड़ा कोई कर्म नहीं होता
और यही कर्म हर एक व्यक्ति का होना चाहिए,
इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं होता
यही धर्म प्रत्येक व्यक्ति का होना चाहिए।

वो वीर अमर हो जाते हैं
जो देश की सेवा में अपने प्राण गँवातें हैं।
इतिहास भी उनकी शहादत को याद रखता है
जो वीर पुरुष देश के काम आते हैं।

जो काबिलियत देश के सैनिकों के पास होती है
हर किसी के पास वो फ़न नहीं होता,
यूँ तो कफ़न का रंग सफेद है
पर तिरंगे से सुंदर कोई कफ़न नहीं होता।

इस मुल्क की आन की हिफ़ाज़त करना
भारत माता के मान की हिफ़ाज़त करना।
ये देश वीर जवानों का गुरुर था और हमेशा रहेगा
उनके इस बलिदान की हिफ़ाज़त करना।

देश भक्ति जब खून में होती है
तब रक्त बहने की कहाँ फिक्र होती है।

हर कोई सिर्फ माशूका के प्यार में नहीं तबाह होता है
कुछ मुल्क के लिये भी मर मिटने पर आमादा रहते हैं।

15 August Shayari

15 August के इस शुभ अवसर पर लाल किले पर एक कार्यक्रम का आयोजन होता है, जिसमें देश के प्रधानमंत्री ध्वजारोहण करते हैं। इस दिन अन्य दिनों की अपेक्षा देश में काफी शांति रहती है और हर कोई नम आँखों से भारत माता के उन वीर सपूतों को याद करता है, जिन्होंने हमारे लिए इतनी बड़ी कुर्बानी दी और भारत माँ की गोद में सदा के लिए सो गए। गुलाम भारत से आज़ाद भारत का सफर इतना आसान नहीं था। खून की नदियाँ बही थी, जिससे भारत माँ का आँचल आज भी लाल है। वो मंज़र सच में रुला देने वाला था, ये तो हमारी खुशकिस्मती है कि हमने आज़ाद भारत में जन्म लिया। और अपनी आज़ादी को मना पा रहे हैं और आज भी हम अपने घरों में महफूज़ हैं तो इसका श्रेय सेना के उन जवानों को जाता है जो सरहद पर हर वक़्त मौजूद रहते हैं।  

हमारे देश की एकता और swatantrata diwas par shayari लेकर आए हैं:

पहनावा अलग है, खाना अलग है और अलग है सबका एक वेष
पर अनेकता में भी एकता का परिचय देता है मेरा देश।

टुकड़ों में मत बांटो हिंदुस्तान को
ये वीर सपूतों की वो पाक धरती है जहाँ सब एक बराबर हैं।

इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं होता
सेवा से बड़ा कोई कर्म नहीं होता
जब भी मौका मिले देश के काम आने का, इसे गँवाना मत
धर्म का सहारा लेकर मुल्क की अवाम को लड़ाना मत।

धर्म के नाम पर कुछ लोग सियासी खेल खेलते हैं
जिनका अंजाम आवाम के मासूम लोग झेलते हैं।

उस काली अंधेरी रात कि उजली सुबह हुई थी आज
जब हिंदुस्तान के सर सजा था आज़ादी का खूबसूरत ताज।

देश की हिफ़ाज़त के लिये अपने सीने पर वो गोली झेलते हैं
तब जाकर हम सुकून से होली खेलते हैं।

साँसें टूट रही थी
फिर भी वो लड़ते रहें
मौत रास्ते में खड़ी थी
अपनी आखिरी सांस तक वो लड़ते रहें।

आज़ादी पाने के लिये बगावत पर उतरना पड़ता है
अंगारों की राहों से गुज़रना पड़ता है
आज़ादी उस गुलाब के खूबसूरत फूल की तरह है
जिसे पाने की खातिर काँटों का सफ़र तय करना पड़ता है।

सबके दिलों को भाता है, सबको प्यारा है
सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा है।

दिलों में सदा सबके लिये प्यार को बनाये रखना
देश हमेशा मुस्कुराता रहेगा
बुरी नज़र नहीं पड़ेगी इस मुल्क दुश्मन की
देश फूलों की तरह मुस्कुराता रहेगा।

Shayari on Independence Day in Hindi

आज़ादी का पहला कदम बगावत है
जिसे बगावत करना आता है
उसमें दुनिया जहाँ को जितने की ताकत होती है।

अंजाम की खबर तो जवानों को भी रहती है
पर बात तो सिर्फ मुल्क के हिफ़ाज़त कि है, वतन से मोहब्बत की है।

आपका धर्म चाहे जो भी हो,
पर तिरंगे की हिफ़ाज़त और इज़्ज़त करना हर एक हिंदुस्तानी का पहला धर्म होना चाहिए।

भारत की धरती के रंग अनेक हैं
पर यहाँ दिल सबके एक हैं।

आज़ादी मिलती नहीं है, छीननी पड़ती है।

मौत सामने थी
पर दुश्मन को पीठ नहीं दिखाई
वार भी सामने से किया
और गोली भी हँस कर सीने पर खाई।

कोई सरहद पर हर वक़्त तैनात होता है
तब हम सुकून की नींद सो पाते हैं।
कोई दुश्मनों से लड़ता है
तब हम आज़ादी का पर्व मनाते हैं।

(एक सैनिक क्या कहता है)
रक्त से तिलक करते हैं वो
देश प्रेम में खुशी खुशी मरते हैं वो।

(एक सैनिक क्या कहता है)
वतन- ए- आबरू पर सब कुछ कुर्बान कर दूँ
मैं हँसते – हँसते इसके नाम अपनी जान कर दूँ।

हिंदुस्तान की ये मिट्टी निराली थी और निराली रहेगी
ये हम सब को प्यारी थी और प्यारी रहेगी।

अंतिम शब्द:

दोस्तों, आज के इस पोस्ट में आपने आज़ादी के महत्व को विस्तारित ढंग से समझा और जाना, और साथ ही इस आर्टिकल में आपने स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान, आज़ादी और भारतीय सैनिकों के ऊपर चुनिंदा शायरी पढ़ा। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा 15 august shayari, shayari on independence day in hindi, swatantrata diwas shayari, happy independence day shayari पर तैयार किया गया ये लेख पसंद आया होगा। 

आप इस happy independence day shayari आर्टिकल को अपने फ्रैंड्स और फैमिली के साथ साझा कर सकते हैं और साथ ही 15 अगस्त वाले दिन इन लाइनों को अपने वॉट्सऐप, फेसबुक या इंस्टाग्राम पर पोस्ट कर सकते हैं। और किसी भी टॉपिक पर इस टाइप के अन्य बेहतरीन कोट्स, शायरी और थॉट्स पढ़ने के लिए आप हमारे वाबसाइट से जुड़ सकते हैं ताकि आपको हमारे अपडेट्स आसानी से मिल जाए। 

Editorial Team

Editorial Team

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest

Categories